Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Best Astrologer in India Gopal Raju Best Astrologer in India Gopal Raju
Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually | Instead of shopping, we analyze logically and intellectually

Combination of two gemstones given by you has proved most effective. I am now fully convinced with my job.
*Dushyant Kumar, Mumbai
Very nice article Sir. In every Article there is something new and knowledgeable. Thanks & Regards
*Garima Agarwal
Blessings of Mr. Gopal Raju have totally changed my professional life. He had made me from zero to hero in my profession. My and my family is always thankful to him.
**Dinesh Sharma, Advocate, Yamunanagar (Har.)
Dear sir, Like your previous site, this site is also excellent for the logical articles on occult sciences. Congrts..... Trust you will keep on providing untouched matter of these subjects in this site.
*Anu Chaurasia, Delhi
आप की दिशा दिखलाने के बाद से मुझे और मेरे परिवार के लिए एक अच्छा समय आया है । बहुत दिनों बाद घर में सब मिलकर रहते हैं । इससे अब घर में शांति मिलती है । गरिमा शर्मा, रूड़की
*गरिमा शर्मा, रूड़की
सरलतम धनदायक प्रयोग तंत्र त्रिकाल पत्रिका से गोपाल भाई ने लिखने शुरू किये थे आज वह इतने चर्चित हो गए हैं की ज्योतिष की कोई भी पत्रिका उनके बिना अधूरी है | छोटे भाई की उन्नति की दुआ है |
*तांत्रिक बहल, दिल्ली
After adopting your puja, yantra and gemstones, I have got a favorable job.
*Surendra Singh, Nagpur



किस मुहूर्त में करें रोग का निदान

किस मुहूर्त में करें रोग का निदान, इलाज किस मुहूर्त में करें, गर्भवती, मुहूर्त शास्त्र,किस समय चिकित्सक से मिलें,शल्य चिकित्सा,शुभ मुहूर्तों की गणना, गंभीर शल्य चिकित्सा, गर्भवती महिला, बच्चे की जन्म पत्रिका, गोपाल राजू,Best Astrologer, Ask, Muhurth for Surgery, Best in Roorkee, Best Astrologer in Uttrakhand, Best Astrologer in Delhi, Delhi Top Astrologers

मनासश्री गोपाल राजू

किस मुहूर्त में करें रोग का निदान

    मुहूर्त शास्त्र के मूल शास्वत ग्रंथों में यदि तलाशें तो रोगों के उपचार के लिए शुभ समय, दिन, माह आदि का सुन्दर वर्णन मिल जाएगा। इनका यदि बौद्धिकता से अनुसरण किया जाए तो अच्छे परिणामों की सम्भावना निश्चित रूप से बढ़ जाएगी। किस समय चिकित्सक से मिलें? किस दिन से अथवा किस समय से उपचार प्रारम्भ करें? शल्य चिकित्सा में जा रहें हैं तो किस समय उसके लिए चिकित्सक तैयारी प्रारम्भ करें। ऐसे अनेक प्रश्न है जो जिज्ञासु मन में उठ रहें होंगे। मात्र थोड़े से ज्ञान और अल्प समय में इन प्रश्नों का समाधान मिल सकता है। बस थोड़ा सा श्रम, श्रद्धा और संयम की आवश्यकता है इन शुभ मुहूर्तों की गणनाओं के लिए।

    अब से लगभग पैतींस वर्ष पूर्व मैंने विचित्र प्रयोग किए थे इस दिशा में। मेरे परिवार में भाई की पत्नी की गंभीर शल्य चिकित्सा होनी थी। खेल-खेल में मैं मुहूर्त शास्त्र की पुस्तकें तलाशने लगा। कुछ सूत्र हाथ लगे। अकस्मात् ध्यान आया कि गर्भवती महिला की यदि शल्य चिकित्सा होती है तो क्यों न उस भावी संतान के लिए एक सुन्दर सा समय गणना किया जाएं। सब जानते ही हैं कि बच्चे की जन्म पत्रिका उसके जन्म के समय के आधार पर ही बनाई जाती है। डॉक्टर ने तीन दिन के अन्दर अन्दर सर्जरी के लिए दिशा निर्देश दे ही रखें थे। सौभाग्य से सब परिचित थे। उनको मैंने चार मिनट का एक समय गणना करके दिया। नर्सिगं होम में चिकित्सकों और स्टॉफ के सहयोग से ठीक उस निर्दिष्ट समय में ही शल्य चिकित्सा द्वारा एक सुन्दर कन्या का जन्म हुआ। आज हमारे सब परिचित मानते हैं कि वह लड़की परिवार के लिए कितनी भाग्यशाली सिद्ध हुई। उसके बाद से तो एक-दो नहीं दर्जनों की संख्या में ऐसे प्रयोग करवाता रहा हूँ । यह बात अलग है कि अधिकांशतः ऐसे उदाहरण रहे हैं कि जहाँ सुनिश्चित समय में सर्जरी किन्हीं कारणों से सम्भव ही नहीं हो सकी।

    जो लोग आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्यति से परिचित हैं वह यह अवश्य स्वीकार करेंगे कि मुहूर्त और मंत्र बिना यह पद्यति बिल्कुल निष्प्रभाव है। औषधि के लिए विभिन्न घटकों के जुटाने से लेकर रोगी को देने तक के सब मुहूर्त ग्रंथों में निर्देशित हैं। आज समय के अभाव, संयम की कमी और सबसे ऊपर धन लौलुपता की अंधड़ दौड़ में इस मुहूर्त ज्ञान को सर्वथा भुला ही दिया गया है। थोड़े से श्रम द्वारा यदि शुभ मुहूर्त चिकित्सा अथवा शल्य कर्म के लिए तलाश करके तद्नुसार आगे बढ़ा जाए तो परिणाम निश्चित रूप से उत्तम सिद्ध होंगे।

    चीनी ज्योतिष शास्त्र में रोगों के निदान के लिए कुछ ऐसे सयम सुनिश्चित किए हैं जिसमें उस रोग विशेष का यदि उपचार कर्म प्रारम्भ किया जाए तो शुभ फलदायी सिद्ध होता है ज्योतिष की गूढ़ गणनाओं से सर्वथा अलग यह वह प्राकृतिक नियमों के अनुकूल समय हैं जो हर कोई सरलता से अपना कर आशातीत परिणाम पा सकता है।

1. साधारण रोग           दिन में 11 से 3 बजे तक

2. पेट के रोग             सुबह 7 से 9 बजे तक

3. गुर्दे के रोग            दिन में 11 से 1 बजे तक

4. शारीरिक कष्ट          सुबह 9 से 11 बजे तक

5. लिवर के रोग           दिन में 1 से 3 बजे तक

6. हृदय रोग              दिन में 11 बजे से 1 बजे तक

7. मूत्र रोग               दिन में 3 से 5 बजे तक

8. फेफड़े रोग            दिन में 3 से 5 बजे तक

    चीनी चिकित्सा पद्यति में माना गया है शरीर में प्राकृतिक ऊर्जा की शक्ति दिन में 3 बजे से 5 बजे तक सर्वाधिक होती है। इसलिए वहाँ सलाह दी जाती है कि गम्भीर रोगों का इलाज दिन के निर्दिष्ट समयानुसार ही किया जाए।

    यदि शल्य चिकित्सा में जा रहे हैं तो इसी प्रकार प्रयास करें कि दोनों पक्षों की 4, 9, 14 तिथियाँ, सोमवार, मंगलवार अथवा गुरूवार और अश्विनी, मृगशिरा, पुष्प, हस्त, स्वाति, अनुराधा, ज्येष्ठा, श्रवण अथवा शतमिषा नक्षत्रों के संयोग एक साथ मिल जाएं। यदि पूर्णतया विशुद्ध गणनाओं में जाना है तो ज्योतिष ज्ञान, ग्रहगोचर आदि का ज्ञान परम आवश्यक है।

    औषधि सेवन के लिए प्रारम्भ करने के लिए समय के अभाव में यदि विशुद्ध गणना करना सम्भव न हो तब पंचाग से मात्र तिथि, वार और नक्षत्र देखकर उपचार प्रारम्भ कर सकते हैं।

    शुक्ल पक्ष की 2, 3, 5, 6, 7, 8, 10, 11, 12, 13 और 15 तिथियाँ इसके लिए शुभ सिद्ध होती हैं।

    संयोग से यह तिथियाँ रविवार, सोमवार, बुधवार, गुरूवार अथवा शुक्रवार की पड़ती हैं तो यह और भी अच्छा योग है। इनमें यदि अश्विनी, मृगाशिरा, पुनर्वस, पुष्प, हस्त, चित्रा, स्वाति, अनुराधा, मूल, श्रवण, घनिष्ठा और रेवती नक्षत्र भी मिल जाए अर्थात् तिथि, दिन और नक्षत्र तीनों के संयोग एक साथ बन जाएं तब तो बहुत ही संतोष जनक परिणाम औषधि और चिकित्सा के सिद्ध हो सकते हैं।

 


Feedback

Name
Email
Message


Web Counter
Astrology, Best Astrologer, Numerology, Best Numerologist, Palmistry,Best Palmist, Tantra, Best Tantrik, Mantra Siddhi,Vastu Shastra, Fangshui , Best Astrologer in India, Best Astrologer in Roorkee, Best Astrologer In Uttrakhand, Best Astrologer in Delhi, Best Astrologer in Mumbai, Best Astrologer in Channai, Best Astrologer in Dehradun, Best Astrologer in Haridwar, Best Astrologer in Nagpur, Gemologist, Lucky Gemstone, Omen, Muhurth, Physiognomy, Dmonocracy, Dreams, Prediction, Fortune, Fortunate Name, Yantra, Mangal Dosha, Kalsarp Dosh, Manglik,Vivah Mailapak, Marriage Match, Mysticism, Tarot, I Ch’ing, Evil Spirits, Siddhi, Mantra Siddhi, Meditation, Yoga, Best Teacher of Yoga, Best Astrologer in Rishikesh, Best Astrologer in Chandigarh, Best Astrologer in Mumbai, Best Astrologer in Pune, Best Astrologer in Bhopal, Best Articles on Astrology, Best Books on Astrology,Face Reading, Kabala of Numbers, Bio-rhythm, Gopal Raju, Ask, Uttrakhand Tourism, Himalayas, Gopal Raju Articles, Best Articles of Occult,Ganga, Gayatri, Cow, Vedic Astrologer, Vedic Astrology, Gemini Sutra, Indrajal Original, Best Articles, Occult, Occultist, Best Occultist, Shree Yantra, Evil Eye, Witch Craft, Holy, Best Tantrik in India, Om, Tantrik Anushan, Dosha – Mangal Dosha, Shani Sade Sati, Nadi Dosha, Kal Sarp Dosha etc., Career related problems, Financial problems, Business problems, Progeny problems, Children related problems, Legal or court case problems, Property related problems, etc., Famous Astrologer & Tantrik,Black Magic, Aura,Love Affair, Love Problem Solution, , Famous & Best Astrologer India, Love Mrriage,Best Astrologer in World, Husband Wife Issues, Enemy Issues, Foreign Trip, Psychic Reading, Health Problems, Court Matters, Child Birth Issue, Grah Kalesh, Business Losses, Marriage Problem, Fortunate Name